शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान की सगाई की फोटो शेयर करते हुए बेटी सबा ने मांगी ये खास विश

शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान (इंस्टा फोटो)

शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान (इंस्टा फोटो)

बॉलीवुड एक्टर सैफ अली खान (Saif Ali Khan) की बहन सबा अली खान (Saba Ali Khan) भले ही फिल्मी दुनिया से ताल्लुख न रखती हों, लेकिन सोशल मीडिया पर वह काफी एक्टिव रहती है। सबा अक्सर सोशल मीडिया के जरिए लोगों के साथ अपनी फैमिली की अनसीन फोटो शेयर करती रहती हैं। कहीं सारा (Sara Ali Khan) तो कहीं इब्राहिम (Ibrahim Ali Khan)), कहीं तैमूर (Taimur Ali Khan) तो कहीं जंहागीर (Jehangir Ali Khan), कहीं भाई भाभी तो कहीं रॉयल फैमिली सबा का सोशल मीडिया अकाउंट इन सभी की फोटोज से भरा पड़ा है। हाल ही में सबा ने एक अपनी मां शर्मिला टैगोर (Sharmila Tagore) और दिवंगत पिता मंसूर अली खान (Mansoor Ali Khan) की सगाई की फोटो शेयर की है।

सबा अली खान ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट से एक पोस्ट शेयर किया है। इस पोस्ट में सबा ने अपने पेरेंट्स की सगाई की ब्लैक एंड वाइट फोटो शेयर की थी। ब्लैक एंड व्हाइट फोटो में कपल को शाही अंदाज में दिखाया गया है। इस फोटो को शेयर करते हुए सबा ने कैप्शन में लिखा, "रॉयल वेडिंग.....माता-पिता की शादी के लिए सगाई हो रही है.. काश मैं वहां होती। माशाअल्लाह।" ब्लैक एंड वाइट फोटो में आप शर्मिला और मंसूर को एक फंक्शन के दौरान फर्श पर बैठे हुए दिखाई दे रहे हैं। शर्मिला जहां भारी रेशमी पोशाक में माथे पर मांगटिका लगाए दिखाई दे रही हैं, वहीं मंसूर एक शॉल लपेटे हुए दिखाई दे रहे हैं।

बता दें कि शर्मिला टैगोर और मंसूर अली खान की शादी साल 1968 में हुई थी। उनके साथ में तीन बच्चे सैफ, सबा और सोहा अली खान है। शर्मिला जहां बॉलीवुड की हिट एक्ट्रेस रह चुंकी है वही मंसूर अली भारतीय क्रिकेट के महान खिलाड़ी रह चुके हैं। शर्मिला ने एक बार इस बारे में खुलकर बात की थी कि इतने सारे बॉलीवुड सितारों के साथ काम करने के बावजूद उन्हें मंसूर से प्यार क्यों हुआ। एक्ट्रेस ने लेडीज स्टडी ग्रुप से बातचीत के दौरान कहा था, "मैं उनसे 1965 के आसपास किसी की पार्टी में मिली थी। वहां हमें आपस में बात करने का मौका मिला था। उनके पास एक बहुत ही ब्रिटिश उच्चारण था और कोई भी उनके जोक्स पर नहीं हंसता था क्योंकि कोई उन्हें समझ नहीं पाता था। इसलिए, वह अपने जोक्स पर खुद हंसते थे। मुझे उनका सेंस ऑफ ह्यूमर पसंद आया और मुझे पता था कि यह आदमी मुझे जानबूझकर चोट नहीं पहुंचाएगा। मैंने उन पर भरोसा किया और वह एक सच्चे सज्जन थे।"