नवरात्रि स्पेशल: माता को भांते हैं ये नौ रंग, इस नवरात्रि जरुर पहनें ये अलग-अलग रंग, बरसेगी मां दुर्गा की कृपा

नवरात्रि में माता के नौ दिन नौ स्वरूपों की आराधना की जाती है. कहा जाता है कि जो भक्त सच्चे मन से माता की पूजा अर्चना करते हैं उनकी मनोकामना पूरी होती है. नवरात्रि के दौरान कई चीजों का पालन करना भी जरूरी है जिसमें कपड़ों के रंग का चयन शामिल है.

दरअसल, नवरात्रि के नौ दिन अलग-अलग रंग के कपड़े पहनकर पूजा-पाठ करने से माता का आशीर्वाद प्राप्त होता है. तो आइए जानते हैं कि इन नौ दिनों में किस दिन कौन से रंग के कपड़े पहनकर पूजा-पाठ करने से भरपूर आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता है:

  • नवरात्रि के पहले दिन मां दुर्गा के पहले स्वरूप मां शैलपुत्री की पूजा का विधान है. कहा जाता है कि मां शैलपुत्री को पीला रंग पसंद है इसलिए भक्तों को भी पीला रंग पहनकर माता की पूजा-अर्चना करनी चाहिए.
  • नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की पूजा का रिवाज है. इस दिन भक्तों को हरे रंग के वस्त्र धारण कर पूजा पाठ करनी चाहिए.
  • इस बार दो तिथियां एक साथ पड़ रहीं हैं इसलिए नवरात्रि के तीसरे दिन मां दुर्गा के चंद्रघंटा और मां कुष्मांडा स्वरूप की पूजा होगी, तो इस दिन भक्तों को भूरे रंग और नारंगी रंग के कपड़े पहनकर पूजा-पाठ करनी चाहिए.
  • मां स्कंदमाता की पूजा करते समय सफेद रंग के कपड़े पहने चाहिए. कहते हैं कि मां खुश होकर अपने भक्तों को आशीर्वाद देती हैं.
  • मां कात्यायनी की पूजा करने के लिए भक्तों को लाल रंग के कपड़े धारण करने चाहिए. कहा जाता है कि माता को लाल रंग काफी पसंद है.
  • मां कालरात्रि की पूजा करते समय भक्तों को नीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए.
  • अब मां के आठवें स्वरूप महागौरी की पूजा के दौरान गुलाबी रंग यानी कि पिंक कलर के कपड़े धारण करने चाहिए.
  • मां सिद्धिदात्री की पूजा करते समय भक्तों को बैगनी रंग पहनना चाहिए.

कहते हैं कि सच्चे मन से माता का स्मरण, पूजा पाठ करने से हर संभव मनोकामनाएं पूरी होती है, बस मन में सच्चा विश्वास होना चाहिए.