स्वरा भास्कर और कंगना रनौत के बीच अश्विनी अय्यर तिवारी ने बताया अंतर, दोनों को लेकर कही ये बात

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) और कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बीच 36 का आंकड़ा हैं। दोनों अक्सर एक दूसरे पर बातों के बांण चलाते रहते हैं। रियल लाइफ में कंगना और स्वरा एक दूसरे का आमना सामना नहीं करते हैं। लेकिन डायरेक्टर अश्विनी अय्यर तिवारी (Ashwini Iyer Tiwari) का कहना है कि दोनों अपने रोल को सर्वश्रेष्ठ देने में विश्वास रखते हैं। अश्विनी ने कंगना रनौत के साथ फिल्म 'पंगा' (Panga) में और स्वरा भास्कर के साथ 'निल बटे सन्नाटा' (Nil Battey Sannata) में काम किया है।

एक मीडिया से बातचीत करते हुए अश्विनी ने कहा कि दोनों 'बहुत मेहनती व्यक्ति' हैं। अश्विनी ने कहा, "वह अपने रोल में दिल और आत्मा डाल देते हैं। मेरे पास स्वरा की 'निल बटे सन्नाटा'  का स्क्रीनप्ले है। उन्होंने इसके चारों तरफ हरे और लाल रंग के पेन का इस्तेमाल किया है, पॉइंटर्स बनाते हुए, अपने किरदार में बैकस्टोरी जोड़ते हुए। यही बात कंगना के साथ भी होती है। वह किरदार में इस कदर ढल जाती है कि वह हमेशा अपना अनुभव वहीं रखेगी। जैसे 'मैंने अपनी माँ को ऐसा करते देखा', 'वह सुबह जल्दी उठ जाती थी'। इसलिए जिस तरह से वे इसे देखते हैं, वे काम पर जो कुछ भी करते हैं उसमें अपना 100% देना चाहते हैं।"

वे दोनों एक्टर्स के रूप में कितने अलग हैं, इस बारे में बात करते हुए अश्विनी ने कहा, "स्वरा बार-बार अपनी लाइन्स प्रैक्टिस करती रहती हैं, वह टेक्स लेती रहती हैं क्योंकि ऐसी उनकी पर्सनैलिटी है। कंगना के साथ यह है कि वह वास्तव में अपनी पिच जानती है और वह मेरे साथ पिच पर चर्चा करेगी और अपनी पहली बार में ही वह वहां पर होती हैं। क्योंकि पिच बहुत सही है।" उन्होंने कहा कि जब कंगना को लगता है कि वह गलत हैं तो वह रीटेक भी मांगती हैं। कंगना और स्वरा भास्कर ने फिल्म तनु वेड्स मनु (Tanu Weds Manu) और तनु वेड्स मनु रिटर्न्स (Tanu Weds Manu Returns) में साथ काम किया था। वहीं राजनीति और समाज के मामले में दोनो एक-दूसरे के सामने खड़ीं होती हैं। दोनों अक्सर एक- दूसरे पर कटाक्ष करते रहते हैं।