भीख मांगने को मजबूर पाक पीएम इमरान खान! IMF ने दिया ये बड़ा झटका

पाकिस्तान अपने बुरे दिनों का सामना कर रहा है. पाकिस्तान को अंतरराष्ट्री य मुद्राकोष आईएमएफ यानी कि (International Monetary Fund) ने बड़ा झटका दिया है जिससे पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति पर असर पड़ सकता है.


दरअसल, आईएमएफ ने पाकिस्ताैन को एक अरब डॉलर के लोन की किश्त जारी करने से मना कर दिया है. वहीं, आईएमएफ को मनाने के लिए इमरान सरकार ने बिजली और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भारी वृद्धि की लेकिन इससे भी IMF को संतुष्टर नहीं किया जा सका. आईएमएफ से निराशा हासिल होने की वजह से हो सकता है कि पाक पीएम इमरान खान चीन सहित अन्य देशों के सामने मदद की भीख मांगे.


सूत्रों के मुताबिक, आईएमएफ ने पाकिस्ताहन सरकार की अर्थव्य वस्थास को बचाने के लिए 6 अरब डॉलर की एक्स,टेंडेड फंड फैसिलिटी दी थी. इसके तहत एक अगली किश्त के रूप में एक अरब डॉलर दिया जाना था. जानकारी मिली है कि, पाकिस्ता.न सरकार और आईएमएफ के बीच इस पैसे को लेकर बात नहीं बन पाई है.


पाकिस्तान की इमरान सरकार ने बिजली और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भारी वृद्धि की जिससे आईएमएफ खुश नहीं हुआ लेकिन आम जनता महंगाई से परेशान हो गई. वैसे पाक जनता के परेशान होने के और भी कारण हैं. सूत्रों की मानें तो हाल ही में पाकिस्तान की संसद में इमरान खान सरकार ने कबूल किया था कि हर पाकिस्तानी के ऊपर अब 1 लाख 75 हजार रुपये का कर्ज है इसमें इमरान खान की सरकार का योगदान 54,901 रुपये है, जो कर्ज की कुल राशि का 46 फीसदी हिस्सा है. बताते चलें कि कर्ज का यह बोझ पाकिस्तानियों के ऊपर पिछले दो साल में बढ़ा है.