Mumbai Cruise Drugs Case: समीर वानखेड़े के खिलाफ दर्ज हुई शिकायत तो NCB ऑफिसर के सपोर्ट में आए लोग

Mumbai Cruise Drugs Case: समीर वानखेड़े

Mumbai Cruise Drugs Case: समीर वानखेड़े

मुंबई क्रूज ड्रग्स केस (Mumbai Cruise Drugs Case) में एनसीबी (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) इस केस में अहम गवाह प्रभाकर साइल (Prabhakar Sail) की गवाही के बाद से शक के घेरे में हैं। प्रभाकर साइल ने समीर वानखेड़े पर आरोप लगाए हैं कि उन्होंने बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) को छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपयों की मांग की थी। प्रभाकर की गवाही के बाद अब समीर वानखेड़े के खिलाफ एक वकील सुधा द्विवेदी (Sudha Dwivedi) ने एफआईआर (FIR) के लिए शिकायत दर्ज की है।

न्यूज एजेंसी एएनआई (ANI) के मुताबिक मुंबई की वकील सुधा द्विवेदी ने एनसीबी मुंबई के समीर वानखेड़े और चार अन्य के खिलाफ "अपराध के आरोप की धमकी देकर जबरन वसूली" का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज की है। इस शिकायत के बाद से सोशल मीडिया यूजर्स इस पर अपने रिएक्शन देने लगें हैं। ज्यादातर लोग सोशल मीडिया पर समीर वानखेड़े के सपोर्ट में उतरे हुए हैं। लोगो का कहना है कि वह हमारे देश के हीरो हैं और सरकार को इस बात पर संज्ञान लेना चाहिए।

बता दें कि प्रभाकर साइल ने रविवार को एक वीडियो जारी करते हुए एनसीबी के खिलाफ बयान दिया है। प्रभाकर का दावा है कि एनसीबी के एक अधिकारी और फरार हुए गवाह केपी गोसावी सहित कुछ अन्य लोगों ने सुपरस्टार के बेटे को छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपयों की मांग की थी। प्रभाकर ने गोसावी को इस बारें में किसी से फोन पर बातचीत करते हुए सुना था। गौरतलब है कि आर्यन खान को 2 अक्टूबर की रात को एनसीबी ने क्रूज पर चल रही रेव पार्टी के दौरान पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। इसके बाद 3 अक्टूबर से किंग खान के बेटे न्यायिक हिरासत में हैं। वह इस समय आर्थर रोड जेल में बंद है। आज बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) में आर्यन की जमानत याचिका पर सुनवाई होनी है, जिसके बाद ये तय होगा कि बॉलीवुड के बादशाह के बेटे रिहा होंगे या उन्हें अभी और कुछ दिन जेल में रहना होगा।