सपना चौधरी के खिलाफ लखनऊ से जारी हुआ गिरफ्तारी वॉरंट, 3 साल पुराने मामले में हुई कार्रवाई

सपना चौधरी (इंस्टा फोटो)

सपना चौधरी (इंस्टा फोटो)

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी (Sapna Choudhary) के खिलाफ लखनऊ की एक अदालत (Lucknow Court) ने गिरफ्तारी का वॉरंट (Arrest Warrant Against Sapna Choudhary) जारी कर दिया है। उनके खिलाफ शिकायत की गई थी कि उन्होंने मनमाने ढंग से एक कार्यक्रम को रद्द किया और तो और टिकट खरीदने वाली ऑडियंस के पैसे भी वापस नहीं किए थे। इसी शिकायत के संबंध में लखनऊ के एडिशनल चीफ न्यायिक मजिस्ट्रेट शांतनु त्यागी (Shantanu Tyagi) ने मामले की सुनवाई करते हुए फेमस डांसर के खिलाफ गिरफ्तारी का वॉरंट जारी किया है। इस मामले में आगे की सुनवाई (Next Hearing) 22 नवंबर को होगी।

बता दें कि ये मामला 3 साल पुराना है। इस मामले की शिकायत 14 अक्टूबर 2018 को दरोगा फिरोज खान ने आशियाना थाने में दर्ज कराई थी। सपना के अलावा इस मामलें में कार्यक्रम के आयोजक जुनैद अहमद, नवीन शर्मा, इवाद अली, अमित पांडे और रत्नाकर उपाध्याय का नाम भी शिकायत में दर्ज किया गया था।

गौरतलब है कि हरियाणवी डांसिंग क्वीन सपना चौधरी को अन्य कलाकारों के साथ 13 अक्टूबर, 2018 को स्मृति उपवन में दोपहर तीन बजे से रात 10 बजे तक एक प्रोग्राम करना था। इस प्रोग्राम के टिकट ऑनलाइन व ऑफलाइन तीन सौ रुपए में बेचे गए थे। इस प्रोग्राम को देखने के लिए हजारों लोग स्मृति उपवन में आए थे। इन लोगो सब्र तब जवाब दे गया जब सपना रात 10 बजे तक भी प्रोग्राम वेन्यू पर नहीं पहुंची। इसके बाद लोगों ने टिकट के पैसों की वापसी को लेकर खूब हंगामा किया, इसके बावजूद दर्शकों के पैसे वापस नहीं किए गए। बता दें कि इस मामले को खत्म करने के लिए सपना ने कोर्ट में डिस्चार्ज याचिका दायर की थी, जिसे कोर्ट पहले ही खारिज कर चुकी है।