सीएम चन्नी मत्था टेकने पहुंचेंगे करतारपुर कॉरिडोर लेकिन सिद्धू को अनुमति नहीं, जानिए क्या है वजह

गुरु नानक जयंती का महापर्व नजदीक है. ऐसे में करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी गुरुवार को अपनी पूरी कैबिनेट के साथ मत्था टेकने पहुंचेंगे लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर कॉरिडोर जाने की अनुमति नहीं मिल पाई है.

मिली जानकारी के मुताबिक, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को करतारपुर साहिब जाने की अनुमति नहीं मिली है. दरअसल, इसके पीछे की वजह उनके डॉक्यूमेंटेशन बताए जा रहें हैं. बताया जा रहा है कि अभी उनके डॉक्यूमेंटेशन का काम पूरा नहीं हो पाया था, पेपर वर्क पूरा होने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू को आगामी 20 नवंबर को पाकिस्तान के करतारपुर जाने की इजाजत है. वह 20 नवंबर को करतारपुर साहिब पहुंचकर दर्शन करेंगे.

सूत्रों के मुताबिक, जब नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर साहिब पहुंचेंगे तो उन्हें हाई प्रोटोकॉल दिया जाएगा. इतना ही नहीं नवजोत सिंह सिद्धू का भव्य स्वागत भी होगा. वहीं, जानकारी ये भी मिली है कि पाकिस्तान के पंजाब राज्य के गवर्नर चौधरी मोहम्मद सरवर नवजोत सिंह सिद्धू को लेने के लिए भारत-पाकिस्तान सीमा पर बने कॉरिडोर पहुंच सकते हैं. हालांकि, इस बात की पुष्टि अभी नहीं हुई है.

वहीं, कोरोना वायरस के बढ़े प्रकोप के कारण करतारपुर साहिब करीब 20 महीने बाद खोला गया है. वहीं, बीच में इसे खोलने की मांग उठी थी लेकिन अब गुरु नानक देव के 552वें प्रकाश वर्ष से पहले करतारपुर कॉरिडोर को खोल दिया गया है. हालांकि, सख्त रूप से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा. जिन श्रद्धालुओं के कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी होंगी उन्हें ही दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी. इतना ही नहीं श्रद्धालुओं के पास नेगेटिव रिपोर्ट भी होनी चाहिए जो कि 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं हो.