इस पार्टी का दामन थाम सकते है वरुण गाँधी, अटकलें तेज

वरुण गांधी भाजपा सांसद के बारे में यह सुनने में आ रहा है कि वह बीजेपी से खुश नही है इसीलिए यह अनुमान लगाए जा रहे हैं कि वह तृणमूल कांग्रेस में जा सकते है टीएमसी सुप्रिमो ममता बनर्जी का आने वाले हप्ते में दौरा है उसी समय इस वार्तालाप को विराम दिया जा सकता है।सांसद दानिश अली भी बसपा से अलग होकर टीएमसी शामिल हो सकते हैं ममता बनर्जी अपने दौरे पर इसका ऐलान कर कर सकती है ।वरुण गाँधी की माँ मेनका गाँधी को भी भाजपा की जो राष्ट्रीय कार्य समिति है उन्हें उसमे शामिल नही किया गया । तो जाहिर सी बात है वो भी बीजेपी से खफा चल रहे हैं

टीएमसी के के एक वरिष्ठ नेता के जरिये अब यह बात सामने आ रहीं है की अब वो बीजेपी से अलग होना चाहते हैं जाहिर सी बात है की बीजेपी छोड़ने जे बाद वो किसी दूसरी पार्टी का दामन थामेंगे।लखीमपुर खीरी में जो हिंसा हुई वरुण ने उसकी भी काफी नाराजगी जाहिर की थी।त्रिपुरा और गोवा के तृणमूल कांग्रेस मणिपुर, असम ,उत्तर प्रदेश इन राज्यों में भी अपनी सत्ता का विस्तार करने का प्रयत्न कर रही है इसी बात पर विचार करते हुए पार्टी ये सोच रही है उन सभी राज्यो में से जो नेता तृणमूल में सम्मलित हुए है उन्हें भी राज्य सभा भेजने पर विचार हो सकता है ।

हाल ही में 29 सितंबर को गोवा के मुख्यमंत्री लुइजिन्हों फलेरिओ ने कोलकत्ता जाकर जो नेता उनका साथ दे रहे थे उनके साथ ही टीएमसी में शामिल हो गए थे ।टीएमसी का राष्ट्रीय अध्यक्ष भी उन्हें ही बनाया गया है हाल ही में कमलापति त्रिपाठी के पौत्र राजेश त्रिपाठी और उनके पुत्र ललितेशपति त्रिपाठी भी 25 अक्टूबर को तृणमूल ने सम्मलित हुए।