जूही चावला ने हर हीरो के साथ किया रोमांस लेकिन इस एक्टर के साथ कमाल की थी कैमिस्ट्री

हैप्पी बर्थडे जूही चावला

हैप्पी बर्थडे जूही चावला

साल 1984 में मिस इंडिया (Miss India) का खिताब जीत कर फिल्म इंड्स्ट्री में अपनी एक खास पहचान बनाने वाली एक्ट्रेस जूही चावला (Juhi Chawla) आज अपना 54वां जन्मदिन (Happy Birthday Juhi Chawla) मना रही हैं। एक्ट्रेस अपने फिल्मी करियर में हर तरह के रोल में नजर आई थी। एक्ट्रेस ने अपने लगभग दो दशकों के फिल्मी करियर में कई हिट फिल्में दी हैं। आज उनके बर्थडे के खास मौके पर हम उनकी ऑनस्क्रीन कैमिस्ट्री की बात करेंगे। जूही एकमात्र ऐसी एक्ट्रेस थी जिसने गोविंदा (Govinda), अक्षय कुमार (Akshay Kumar), अजय देवगन (Ajay Devgn) और आमिर खान (Aamir Khan) जैसे बॉलीवुड के सभी सुपरस्टार्स के साथ काम किया था। लेकिन बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के साथ उनकी ऑनस्क्रीन जोड़ी हमेशा खास बनी रही।


शाहरुख खान ने अपने एक्टिंग करियर में बतौर हीरो पहली फिल्म 'राजू बन गया जेंटलमैन' (Raju Ban Gaya Gentleman) साइन की थी। इस फिल्म में जूही और उनकी पहली मुलाकात हुई और दोनों की कभी न टूटने वाली दोस्ती भी हुई। एक्ट्रेस उस समय जहां उस समय अपने करियर में स्थिर मुकाम पर थीं वहीं शाहरुख की ये पहली फिल्म थी जिसमें वह मेन लीड में नजर आ रहे थे। इन दोनों की ऑफस्क्रीन पेयरिंग की झलक ऑनस्क्रीन कैमिस्ट्री में साफ दिखाई देती थी। इन दोनों की जोड़ी को दर्शक काफी एंजॉय करते थे। जूही चावला ने शाहरुख खान के साथ तमाम फिल्में जैसे 'राजू बन गया जेंटेलमैन', 'राम जानें', 'यस बॉस', 'वन 2 का 4', 'डुप्लिकेट', 'फिर भी दिल है हिंदुस्तानी' और 'भूतनाथ' जैसी कई फिल्में की हैं। शाहरुख खान को भले ही 'किंग ऑफ रोमांस' (King Of Romance) कहा जाता है, लेकिन जूही संग उनकी एक अलग कैमिस्ट्री निकल कर आती थी जो दर्शकों के दिलों को भा जाती थी। काजोल (Kajol) और शाहरुख खान की फिल्मों में जहां आपको डाय हार्ड रोमांस दिखता था वहीं जूही संग शाहरुख की पेयरिंग दर्शकों को एक मासूम और स्वीट प्यार का एहसास करा जाती थी।


शाहरुख संग जूही चावला की फिल्मों ने हमें ये एहसास दिलाया कि किसी चीज को रोमांटिक बनाने के लिए बारिश या फिर सरसों के खेतों की जरूरत नहीं होती है। बल्कि ये तो एक स्वीट इमोशन है जो दो लोगों के बीच पनपता है। उनकी ऑनस्क्रीन कैमिस्ट्री ने बॉलीवुड के मेलोड्रामा को भी खत्म कर दिया था। 'यस बॉस' (Yes Boss) फिल्म में शाहरुख ने एक ऐसे आम आदमी का किरदार निभाया था जो बड़ा आदमी बनने के लिए अपने बॉस की हर सही गलत चीजो को करता है। उसके लिए मैचमेकिंग करता है, लेकिन उस लड़की के साथ उसकी फ्रेंडशिप काफी तगड़ी हो जाती है जिसके बाद उन्हें अपने प्यार का एहसास हो जाता है। 'राजू बन गया जेंटलमैन' में जूही शाहरुख की उनके सपनों को पूरा करने में मदद करने के लिए उन्हें नौकरी दिलवाती हैं, लेकिन वहीं जब वह अपनी सफलता में चूर होकर सही रास्ते से भटक जाता हैं तो वह उन्हें सही रास्ते पर लानें की जिम्मेदारी भी निभाती हैं। वहीं 'फिर भी दिल है हिंदुस्तानी' (Phir Bhi Dil Hai Hindustani) में दोनों विरोधी जर्नलिस्ट की भूमिका में नजर आते हैं, जिनकी कोई भी खबर को ब्रेक करने के लिए होड़ लगी रहती है। लेकिन दोनों एक सही कारण के चलते एक दूसरे के साथ आ जाते हैं।


शाहरुख को खुद भी ऐसा लगता था कि वह रोमांटिक हीरो बनने का कोई इरादा नहीं था। उन्हें ऐसा लगता था कि उनके अंदर लवर- बॉय वाली कोई भी क्वालिटी नहीं थी, क्योंकि वह थ्रिलर, एक्शन और कॉमेडी में अधिक सहज थे। शायद इसलिए ही जूही के साथ उनकी फिल्मों में किया गया हंसी मजाक, लड़ाई- झगड़ा, ज्यादा नेचुरल लगता था। यह प्यारा, रिलैक्सिंग और हंसाने वाला था, जिसमें बोरडम का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता था। इन फिल्मों मे शायद जूही की कॉमिक टाइमिंग की समझ ने भी मदद की थी। खैर अब काफी टाइम से दोनों साथ में दिखाई नहीं दिए हैं सो जब तक वह दोबारा साथ नहीं आते तब तक उनकी 90 की दशक की फिल्में हमारा एंटरटेनमेंट करने के लिए काफी हैं।