वीर दास के I Come from two Indias वीडियो पर भड़की कंगना, बोलीं- 'होनी चाहिए सख्त कार्रवाई'

वीर दास पर भड़की कंगना रनौत

वीर दास पर भड़की कंगना रनौत

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) अपने बयानों को लेकर के मीडिया में छायी रहती हैं। तो एक बार फिर से एक्टर और कॉमेडियन वीर दास (Vir Das) पर कंगना का बयान सुर्खियों में है। सोशल मीडिया (Social Media) पर वीर की एक वीडियो तेजी से वायरल हो रही है। इस वीडियो का टाइटल है 'मैं दो भारत से आता हूं' (I Come From Two Indias), जिसमें उन्होंने कहा कि भारतीय पुरुष दिन में महिलाओं की पूजा करते हैं और रात में उनका सामूहिक बलात्कार करते हैं। अब कंगना ने वीर दास के इस बयान पर उन्हें आड़े- हाथों लिया है।


एक्ट्रेस ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट से एक स्टोरी शेयर करते हुए वीर दास के खिलाफ स्ट्रिक्ट एक्शन की मांग की है। एक्ट्रेस ने अपनी स्टोरी में लिखा है, "जब आप सभी भारतीय पुरुषों को गैंग-रेपिस्ट के रूप में जनरलाइज करते हैं तो यह दुनिया भर में भारतीयों के खिलाफ नस्लवाद और धमकाने को बढ़ावा देता है ... बंगाल अकाल के बाद चर्चिल द्वारा कहा था, 'ये भारतीय खरगोशों की तरह प्रजनन करते हैं, वे इस तरह मरने के लिए बाध्य हैं। ..' उन्होंने भूख के कारण लाखों लोगों की मौत के लिए भारतीयों की सेक्स ड्राइव / प्रजनन क्षमता को दोषी ठहराया ... पूरी जाति को लक्षित करने वाला ऐसा रचनात्मक कार्य सॉफ्ट टेररिज्म है ... ऐसे अपराधियों वीर दास के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।"


बता दें कि सोमवार को वीर ने यूट्यूब (Youtube) पर 'आई कम फ्रॉम टू इंडिया' टाइटल से एक वीडियो अपलोड किया था, जो वाशिंगटन डीसी (Washington DC) के जॉन एफ कैनेडी सेंटर में उनके हालिया प्रदर्शन का एक हिस्सा था। छह मिनट के वीडियो में, उन्होंने देश के द्वंद्व के बारे में बात की और सामयिक मुद्दों पर प्रकाश डाला, कोविड -19 के खिलाफ लड़ाई, बलात्कार की घटनाओं, हास्य कलाकारों के खिलाफ कार्रवाई से लेकर किसानों के विरोध तक। उन्होंने उस वीडियो में कहा था, "मैं एक ऐसे भारत से आता हूं जहां हम दिन में महिलाओं की पूजा करते हैं और रात में उनके साथ सामूहिक बलात्कार करते हैं।" इसके बाद मंगलवार को कॉमेडियन ने अपने इस वीडियो को स्पष्ट भी किया था। उन्होंने कहा अपने ट्वीट में लिखा, "वीडियो दो अलग-अलग भारत के द्वंद्व के बारे में एक व्यंग्य है जो अलग-अलग चीजें करते हैं। जैसे किसी भी राष्ट्र के भीतर प्रकाश और अंधकार, अच्छाई और बुराई होती है। इनमें से कोई भी रहस्य नहीं है। मैं आपसे वही बात कहता हूं जो मैंने वहां पर ऑडियंस से की थी प्रकाश पर ध्यान केंद्रित करें, हमारी महानता को याद रखने और स्प्रेड द लव।"