आप ने कभी सोचा है... 30 की जगह 28 दिन वैलिडिटी के साथ ही क्यों आता है रिचार्ज पैक, यहां जानें

नवंबर के बाद से कई टेलीकॉम कंपनियों ने अपने रिचार्ज पैक (Lowest Recharge Plan) की कीमतों में बढ़ोतरी की है। ऐसे में ग्राहकों के खर्चे भी बढ़ गए हैं। उनके लिए रिचार्ज (Recharge Plan) करवाना अब महंगा सौदा हो गया है। हालांकि, किसी भी कंपनी ने प्लान की वैलिडिटी (28 Days Plan Validity) को लेकर कोई बदलाव नहीं किया है। अगर ग्राहक महीना का रिचार्ज (Monthly Recharge Plan) करवाना चाहते हैं तो उन्हें 30 या 31 दिनों की जगह पर 28 दिनों की वैधता का प्लान मिलता है।

टेलीकॉम कंपनियों द्वारा महीने का रिचार्ज केवल 28 दिनों (why recharge plans are for 28 days) तक का ही होता है, जिसे मंथली रिचार्ज के साथ पेश किया जाता है। क्या आपने कभी इसके बारे में सोचा है कि एयरटेल (Airtel), वोडा-आईडिया (Voda-Idea) और जियो (Jio) जैसी टेलीकॉम कंपनियां क्यों अपने मंथली रिचार्ज पैक को 30 की जगह 28 दिन की वैधता के साथ पेश करती है। अगर नहीं, तो आइए आपको बताते हैं कि इसके पीछे कंपनी का क्या फायदा रहता है...

टेलीकॉम कंपनियां अपने ग्राहकों से 30 दिनों के पैसे लेती है और केवल 28 दिन की वैधता उपलब्ध करती है। इस तरह से ग्राहकों के लिए तो 12 महीने होते हैं, लेकिन कंपनियों के हिसाब से आप 13 महीने तक का रिचार्ज करवाते हैं। ऐसे में कंपनियों को एक महीने के पैसे मुफ्त पड़ते हैं। बता दें कि जियो कंपनी द्वारा महीने का रिचार्ज 28 दिनों की वैधता के साथ शुरू किया गया, जिसके बाद से अन्य कंपनियां भी इस वैधता के साथ अपने प्लान पेश करने लगी है। इससे पहले कंपनिया मंथली रिचार्ज पैक को 30 दिनों की वैलिडिटी के साथ ही पेश करती थी।

कंपनी को ऐसे होता है फायदा

28 दिन की वैलिडिटी प्लान के पीछे का सारा खेल मार्केटिंग है। साल में 12 महीने होते हैं लेकिन 28 दिन के हिसाब से 13 महीने हो जाते हैं। जिससे कंपनियों को एक महीने का प्रॉफिट होता है। मार्केटिंग के हिसाब से अगर हर महीने को 28 दिन मानेंगे तो साल में 13 महीने हो जाएंगे। ऐसे भी समझ सकते है 28×13=365 दिन यानि सालभर के बराबर हो जाता है। ऐसे में कंपनी को 1 महीने का फायदा होता है।