जनरल रावत की हैं दो बेटियां, जानिये कहां रहती है क्या करती है

तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलिकॉप्टर क्रैश के दौरान चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का निधन हो गया है. उनके निधन से देशभर में शोक की लहर छा गई है. उत्तराखंड में तीन दिन का राजकीय शोक भी घोषित किया गया है. उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान कई ऐसे प्रेरित काम किए हैं जिनके बारे में आज हर जगह चर्चा है.


आपको बता दें कि जनरल बिपिन रावत और मधुलिका रावत की दो बेटियां हैं. बेटियों के ऊपर से एक साथ माता-पिता का साया उठ गया है. दोनों बेटियों का नाम कीर्तिका और तारिणी है. बड़ी बेटी कीर्तिका हैं जिनकी शादी हो गई है और वो मुंबई में रहती हैं. छोटी बेटी तारिणी हैं जो दिल्ली में रहकर हाई कोर्ट में वकालत की प्रैक्टिस कर रहीं हैं. माता पिता के निधन के बाद दोनों बेटियों पर जिम्मेदारी आ गई है.


आपको बता दें कि जनरल बिपिन रावत ने अपनी पढ़ाई देहरादून से की है जिसके बाद वो एनडीए और फिर आईएमए देहरादून पंहुचें. उन्होंने मेरठ यूनिवर्सिटी से मिलिट्री मीडिया स्ट्रैटजिक स्टडीज में पीएचडी की है. उऩ्होने साल 1978 में सेना ज्वाइंन की. जनरल बिपिन रावत के परिवार के बारे में आपको बताएं तो उनके पिता लक्ष्मण सिंह लेफ्टिनेंट जनरल के पद से रिटायर हुएं. वहीं, उनकी मां उत्तरकाशी के पूर्व विधायक किशन सिंह परमार की बेटी थीं. उनकी पत्नी मधुलिका रावत आर्मी वेलफेयर से जुड़ी हुईं थीं. वो काफी लंबे समय से सामाजिक कामों से जुड़ी रहीं थीं. इसके अलावा वो साल 2018 से ही आर्मी वुमन वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष भी थीं.


बता दें कि बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत 13 सैन्यकर्मियों का निधन हो गया है जबकि एक ग्रुप कैप्टन की हालत गंभीर बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि हेलीकॉप्टर में 14 लोग सवार थे. वहीं, गुरूवार को जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका का पार्थिव शरीर दिल्ली लाया जाएगा और शुक्रवार को राष्ट्रीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी. जानकारी के अनुसार, अंतिम विदाई में उनकी बेटियां, छोटी बहन और भाई भी मौजूद रहेंगे.