शिवसेना नेता ने हेमा मालिनी के गाल से की सड़कों की तुलना, वीडियो में देखिए गुस्साई सांसद ने क्या कहा

महाराष्ट्र के मंत्री और वरिष्ठ शिवसेना नेता गुलाबराव पाटिल ने एक विवादित बयान दिया है जिसके बाद उनसे माफी की मांग की गई. बता दें कि नेता ने सड़कों की तुलना हेमा मालिनी के गाल से की जिसपर हेमा मालिनी ने भी जवाब दिया है. हालांकि, वरिष्ठ नेता ने माफी मांग ली है.

आपको बता दें कि वरिष्ठ शिवसेना नेता गुलाबराव पाटिल ने अपने विधानसभा क्षेत्र जलगांव जिले की सड़कों की तुलना हेमा मालिनी के गाल से की जिसके बाद उनके इस बयान से बवाल मच गया और वाद विवाद की स्थिति पैदा हो गई. दरअसल, एक चुनावी बैठक को संबोधित करते हुए पाटिल ने जलगांव सीट से विधायक रहे भाजपा के पूर्व नेता खडसे पर निशाना साधा और कहा कि, ‘जोकि 30 सालों तक विधायक रहे, उन्हें मेरे विधानसभा क्षेत्र में आकर सड़कों को देखना चाहिए, अगर यह हेमा मालिनी के गाल जैसी नहीं है तो मैं इस्तीफा दे दूंगा.’

वहीं, इस बयान से हेमा मालिनी भड़क गई लेकिन उन्होंने अपने चेहरे पर यह जाहिर नहीं होने दिया. मंत्री के इस विवादित बयान को लेकर हेमा मालिनी ने कहा कि, ‘इस तरह के बयानों का चलन लालू जी ने सालों पहले शुरू किया था और उनके बाद कई लोगों ने इस प्रवृत्ति को अपनाया. इस तरह की टिप्पणियां अच्छी नहीं हैं.’

आपको बता दें कि शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस पूरे मामलें को हेमा मालिनी का सम्मान बताया है. उन्होंने कहा कि, ‘इस तरह की तुलना पहले भी हो चुकी है. यह हेमा मालिनी के लिए सम्मान की बात है, इसलिए इसे नकारात्मक रूप से ना देखें. इससे पहले लालू यादव ने भी ऐसा ही उदाहरण दिया था. हम हेमा मालिनी का सम्मान करते हैं. बताते चलें कि इस विवादित बयान को लेकर राज्य के महिला आयोग ने एक्शन लिया. उन्होंने मंत्री से माफी मांगने की मांग की और माफी नहीं मांगने पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी जिसके कुछ समय बाद ही मंत्री पाटिल ने अपने विवादित बयान के लिए माफी मांगी. उन्होंने कहा कि, ‘मेरा मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था. मैं अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगता हूं.’