जनरल रावत निधन केस में मिल गया है बड़ा सुराग, अब हर दबे सवाल का जवाब मिल जाएगा

कल बुधवार को दोपहर में हेलिकॉप्टर क्रैश होने की ख़बर आई थी। जिसमें सवार बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत सेना के कई अधिकारियों का निधन हो गया है । पर सोचने वाली बात ये की आख़िर कैसे बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश हो सकता है ? एक अधिकारी का कहना है कि , हेलिकॉप्टर क्रैश शायद मौसम की वजह से हुआ होगा। उनके हिसाब से देखा जाए तो अगर सब कुछ नोर्मल और ठीक था । तो फिर ज़रूर हेलिकॉप्टर कुन्नूर में काफ़ी नीचे उड़ रहा होगा या पहाड़ियों के बीच दब गया होगा। उन्होंने बताया की हेलिकॉप्टर के अंदर एक ब्लैक बॉक्स होगा अगर हमें सही जानकारी चाहिए तो वो हमें उस ब्लैक बॉक्स से मिल सकती है। बता दें की Mi-17V5 हेलिकॉप्टर में ब्लैक बॉक्स की तलाशी हो रही है और साथ ही फ़्लाइट रिकॉर्डर की भी छान बीन चालू है। आपको बता दें की इस फ़्लाइट रिकॉर्डर से हमें उनकी बात चीत का पता चल सकता है ,की आख़िर उस समय हुआ क्या था।

भारतीय वायु सेना में एक पूर्व अधिकारी का कहना है कि, हेलिकॉप्टर को रवाना करने से पहले उसकी जाँच की गयी होगी। उनके साथ एक स्टैंडबाय हेलिकॉप्टर भी होगा , हेलिकॉप्टर के रवाना होने से पहले मौसम की जाँच भी की गयी होगी। उन्होंने वेलिंगटन का मौसम ख़राब भाँप कर वापसी के फ़ैसले को बदल दिया होगा।

सेना के सामने सबसे बड़ा सवाल अब ये उठ रहा है की आख़िर बिपिन रावत को ले जाने वाला हेलिकॉप्टर क्रैश कैसे हो गया ? क्योंकि उन्हें ले जाने से पहले सारी चीजों को बारीकियों से परखा गया होगा । फिर आख़िर वो कौन सी भूल हो गयी या कौन सी कमी रह गयी जो बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया ? सब इस बात से हैरान है। क्योंकि जिस हेलिकॉप्टर में वो रवाना हुए होंगे उसकी जाँच परख कर सारे संदेह निकालें गये होंगे लेकिन उसके बाद भी इतनी बड़ी दुर्घटना के पीछे क्या सटीक कारण रहा होगा ये कोई नहीं जनता। लेकिन ब्लैक बॉक्स इसके सारे राज खोल सकता है । अब देखना ये होगा की ब्लैक बॉक्स से क्या जानकारी हासिल होती है।