जम्मू-कश्मीर पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, आतंक के खात्मे के लिए ये नई तकनीक

जम्मू-कश्मीर में आतंक के खात्मे के लिए कई ऐसे कदम उठाए जा रहें हैं जो सुरक्षा के लिहाज से काफी अहम है. पुलिस भी अपनी ओर से जम्मू-कश्मीर की सेना और लोगों की सुरक्षा के लिए सख्त कदम उठा रही है. बता दें कि जम्मू-कश्मीर पुलिस के बेड़े में 3 ब्लैक पैंथर कमांड व्हीकल को शमिल किया गया है.


जानकारी के मुताबिक, जम्मू संभाग के उधमपुर रियासी रेंज, पूंछ-राजौरी रेंज और डोडा किश्तवार रेंज में भेजी जा रही है. बताया जा रहा है कि इसका इस्तेमाल आतंक के खात्मे और लॉ एंड ऑर्डर सिचुएशन के समय भी किया जा सकता है. वहीं, अब इस गाड़ी की खासियत के बारे में आपको बताएं तो यह ब्लैक पैंथेर कमांड व्हीकल गाड़ी बुलेट प्रूफ है लेकिन इसके फायदे और भी ज्यादा है.


इसमें ज्यादा सीसीटीवी कैमरे (CCTV) के साथ-साथ PTZ कैमरे लगे हुए हैं जो कि रात के समय भी काम कर सकते हैं.


इतना ही नहीं 1/3 किलोमीटर तक यह कैमरे हर एक मोमेंट को पकड़ने की क्षमता रखते हैं.


इस गाड़ी में रडार सिस्टम भी लगाया गया है.


अगर गाड़ी में गोली भी लगती है तब भी गाड़ी चल सकती है.


इस गाड़ी के अंदर पूरा ऑपरेशन मॉनिटर किया जा सकता है.


इस गाड़ी में जवानों के लिए रहने की भी सुविधा है.


मेडिकल और खाने-पीने की भी सुविधा गाड़ी के अंदर है.


इस गाड़ी में कई ऐसे फीचर्स है जो जवान और पुलिस के काम आएंगे.


बताते चलें कि लद्दाख में तैनात रह चुकें सेवानिवृत्त मेजर जनरल जीएस जम्वाल का कहना है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन द्वारा बनाई जा रही रणनीति का मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है. सेना सक्षम है, युद्ध अभ्यास हो रहे हैं. वायुसेना के बड़े विमानों को एक साथ नियंत्रण रेखा पर उतारने के ट्रायल भी हो रहे हैं.